सभी सरकारी इंश्योरेंस पॉलिसियों के बारे में जानें

All govenment schemes

हेल्थकेयर से जुड़े खर्चें लोगों की बचत को ख़त्म करने और उन्हें बहुत ज़्यादा आर्थिक तनाव में डालने के लिए जाने जाते हैं। जो लोग आर्थिक रूप से कमज़ोर होते हैं, ऐसी परिस्थितियों में आमतौर पर सबसे अधिक पीड़ित होते हैं। बतौर एक फ़ाईनेंशियल ऐडवाइज़र, आप लोगों को उन अलग–अलग तरीकों के बारे में शिक्षित कर सकते हैं जिससे कि वो अपना जोखिम कम कर पाएं, इससे आप समाज के लिए कुछ कर सकते हैं। इससे आप एक सफल ऐडवाइज़र के अपने कैरियर को जारी रखते हुए, लोगों को मौजूदा पॉलिसियों के बारे में शिक्षित कर मदद करते हैं।

सौभाग्य से, भारत सरकार ने आम आदमी के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए कई योजनाएं शुरू की हैं। नीचे कुछ सबसे महत्वपूर्ण योजनाओं संबंधी जानकारी हम आपको दे रहें हैं। एक इंश्योरेंस ऐडवाइज़र के रूप में, यदि आप इन योजनाओं के बारे में जानते होंगे, तो आप किसी ऐसे व्यक्ति को जो हाई प्रीमियम वाली हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं खरीद सकते हैं, इन योजनाओं के बारे में शिक्षित कर सकते हैं।

  1. आयुष्मान भारत

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य पॉलिसी (पीएमजेएवाई) के नाम से प्रसिद्ध है। इंश्योरेंस पॉलिसी का उद्देश्य उन व्यक्तियों के लिए स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना है जो आर्थिक रूप से कमज़ोर हैं। इसमें पॉलिसी का लाभ लेने वालों को एक ई-कार्ड दिया जाता है, जिसकी मदद से वे सरकारी, प्राइवेट या कॉन्ट्रैक्ट वाले प्राइवेट अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

  •  ये पॉलिसी अस्पताल में भर्ती होने से 3 दिन पहले का ख़र्च भी उठती है।
  • ये पॉलिसी अस्पताल में भर्ती होने के बाद के 15 दिनों का ख़र्च उठाने की सुविधा भी प्रदान करती है।
  • ये पॉलिसी 1,400 से अधिक प्रकार की बीमारियों के ख़र्च को कवर करती है।
  • ये पॉलिसी एक परिवार को दूसरे और तीसरे चरण की देखभाल के लिए एक वर्ष की कवरेज के रूप में रु 5 लाख प्रदान करती है।
  • ये पॉलिसी पहले से मौजूद किसी भी तरह की बीमारियों को कवर करती है।
  • इस पॉलिसी का लाभ उठाने के लिए संबंधित लोगों को किसी तरह का कोई प्रीमियम नहीं देना होगा।
  • जनगणना 2011 में दर्ज़ आंकड़ों का इस्तेमाल इस पॉलिसी का लाभ लेने वाले लोगों की आर्थिक स्थिति की समीक्षा के लिए किया जाता है। कुछ अपवादों के साथ ये पॉलिसी मुख्य रूप से आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग के लोगों के लिए है।

इस पॉलिसी के लिए कोई रजिस्ट्रेशन फॉर्म इत्यादि नहीं है यदि आपके परिवार की पहचान साल 2011 की जनगणना के अनुसार एक आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की है, तो आपको इस पॉलिसी में अपने आप जोड़ दिया जाएगा।

आधिकारिक वेबसाइट: https://www.pmjay.gov.in/

2.नेशनल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी

नेशनल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी एक और हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है जो असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले भारतीयों के लिए बनाई गई है। ये पॉलिसी उन लोगों के लिए है जो गरीबी रेखा से नीचे गुज़र बसर करते हैं। पॉलिसी के कुछ विशेष लाभ इस प्रकार हैं।

  • यह पॉलिसी फ्लोटर पॉलिसी के आधार पर एक परिवार के लिए रु 30,000 की इंश्योरेंस राशि उपलब्ध कराती है।
  • पॉलिसी कैशलेस इलाज की सुविधा प्रदान करती है।
  • यह पॉलिसी रोगी के परिवहन संबंधी ख़र्चों को भी कवर करती है।
  • पॉलिसी में पहले से मौजूद सभी बीमारियों को शामिल किया जाता है।
  • पॉलिसी होल्डर अपने इलाज के लिए प्राइवेट या सरकारी अस्पतालों में से कोई भी अस्पताल चुन सकते हैं।
  • एक पॉलिसी होल्डर को रजिस्ट्रेशन फीस के रूप में प्रति वर्ष रु 30 का भुगतान करना होता है
  • इसके लिए देशभर में रजिस्ट्रेशन ऑफिस हैं जहाँ पॉलिसी के लिए आवेदन किया जा सकता है। रजिस्ट्रेशन ऑफिसेस में संबंधित क्षेत्र के ज़रूरतमंद परिवारों का डाटा होता है।

आधिकारिक वेबसाइट: http://www.rsby.gov.in/

  1. ईएसआईएस

एम्प्लोयी स्टेट इंश्योरेंस पॉलिसी एक और ऐसी हेल्थ पॉलिसी है जिसमें कुछ लोगों की दिलचस्पी हो सकती है। यह पॉलिसी कामगार श्रमिकों को एक सुरक्षित सामाजिक-आर्थिक परिवेश प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी इसके द्वारा श्रमिकों और उनके परिवार के सदस्यों को आवश्यकतानुसार स्वास्थ्य दी जाती हैं।

  • ये पॉलिसी अपने धारक को पूरी तरह से या आंशिक स्थायी विकलांगता (पर्शियाली परमानेंट डिसेबिलिटी), जैसी घटनाओं या अन्य जटिल बीमारियों के लिए कई तरह नकद सुविधाएँ प्रदान करती है।
  • ये पॉलिसी 26 सप्ताह तक के लिए मातृत्व लाभ (मैटरनिटी बेनिफिट) की सुविधा प्रदान करती है जिसे अतिरिक्त एक महीने तक बढ़ाया जा सकता है
  • ये पॉलिसी बेरोज़गार लोगों के लिए भी उपलब्ध है, लेकिन सिर्फ़ तीन साल के लिए
  • इस पॉलिसी का लाभ 91 दिनों की अवधि तक किसी कर्मचारी की कुल मजदूरी का अधिकतम 70% तक होता है। कर्मचारियों को इसका लाभ लेने के लिए घटना के पिछले 6 महीनों में कम से कम 78 दिन ड्यूटी पर उपस्थित रहने का नियम है।
  • इस पॉलिसी का लाभ उठाने के लिए कर्मचारी के पास अपने मालिक का दिया पहचान पत्र होना अनिवार्य है।
  • यह पॉलिसी अंत्येष्टि के लिए रु 10,000 तक का ख़र्च प्रदान करती है।

आधिकारिक वेबसाइट: https://www.esic.nic.in/

  1. सीजीएचएस

सीजीएचएस यानी इस पॉलिसी का नाम है सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम और ये पॉलिसी विशेष रूप से वर्तमान के साथ-साथ भूतपूर्व केंद्रीय सरकारी कर्मचारियों के लिए भी उपलब्ध होती है। हालाँकि इस पॉलिसी के तहत हेल्थ केयर का लाभ देश के कुछ निश्चित स्थानों पर ही प्रदान किया जाता हैं न कि पूरे देशभर में। इनमें देहरादून, चेन्नई, हैदराबाद, बैंगलोर, भुवनेश्वर, इंदौर, भोपाल, अहमदाबाद, लखनऊ, कानपुर, कोलकाता, पटना, मेरठ, मुंबई, इलाहाबाद, गुवाहाटी, पुणे, जयपुर, रांची, नागपुर, जम्मू, तिरुवनंतपुरम, जबलपुर, चंडीगढ़ जैसी जगहों के साथ-साथ दिल्ली और शिलांग भी शामिल हैं। नीचे इस पॉलिसी से जुड़ी कुछ मुख्य विशेषताओं के बारे में बताया गया है।

  • ये पॉलिसी किसी भी प्राइवेट अस्पताल या सरकारी अस्पताल में इनडोर ट्रीटमेंट, ओपीडी, स्पेशल कंसल्टेशन आदि के लिए कवरेज प्रदान करती है
  • पॉलिसी होल्डर्स कैशलेस सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं
  • पॉलिसी में आयुष (आयुर्वेद, यूनानी, होम्योपैथी और सिद्धा) जैसी पद्धतियों के तहत होने वाले ख़र्च कवर किये जाते हैं।
  • इसमें ओपीडी एवं दवाइयों का ख़र्च भी शामिल है
  • केंद्र सरकार के कर्मचारी, संसद के सदस्य, रेलवे बोर्ड के कर्मचारी, स्वतंत्रता सेनानी, केंद्र सरकार के पेंशनभोगी, पोस्ट और टेलीग्राफ विभाग के कर्मचारी, आदि इस पॉलिसी का लाभ ले सकते हैं।
  • इस पॉलिसी के प्रीमियम की राशि पॉलिसी होल्डर की सैलरी ग्रेड पर निर्भर करता है और सीजीएचएस के लिए उनकी सैलरी से योगदान लिया जाता है।
  • सीजीएचएस का लाभ प्रदान करने वाले सभी शहरों की सूची प्राप्त करने के लिए आप उसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं।

आधिकारिक वेबसाइट: https://cghs.gov.in/

  1. यूएचआईएस

यूनिवर्सल हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम का उद्देश्य देश के सभी नागरिकों के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को किफायती बनाना है। वर्तमान में, यह पॉलिसी देश की कुल आबादी का लगभग 25% कवर करती है। ये पॉलिसी गरीबी रेखा से ऊपर और नीचे के परिवारों के लिए उपलब्ध है। यहाँ नीचे इसके प्रमुख लाभ बताए गए हैं।

  • ये पॉलिसी व्यक्तियों के साथ-साथ समूहों के लिए भी उपलब्ध है
  • इस पॉलिसी का लाभ 5 वर्ष से 70 वर्ष की बीच की आयु के किसी भी व्यक्ति के लिए उपलब्ध है
  • ये पॉलिसी सालाना रु 300 के मामूली राशि पर उपलब्ध है
  • इस पॉलिसी के अंतर्गत आने वाले लोग किसी अन्य पॉलिसी का लाभ नहीं ले सकते हैं
  • ये पॉलिसी अपने धारक को इसके नियम के अनुसार अस्पताल में भर्ती होने पर रु 30,000 की कवरेज, मातृत्व लाभ (मैटरनिटी बेनिफिट) के लिए रु 2,500 और सीज़ेरियन के समय रु 5,000 का लाभ प्रदान करती है
  • पॉलिसी परिवार के एक कमाऊ सदस्य के लिए रु 25,000 का पर्सनल एक्सीडेंट कवर प्रदान करती है।
  1. अअबीयो

आम आदमी इंश्योरेंस पॉलिसी देश के नागरिकों के लिए एक और हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है जो विभिन्न विशेष प्रकार के 48 समूहों का एक हिस्सा होते हैं। यह पॉलिसी 2 अक्टूबर 2007 को शुरू की गई थी और भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा चलाई जाती है।

  • पॉलिसी होल्डर की मृत्यु के मामले में, नॉमिनी को रु 30,000 दिए जाते हैं
  • पॉलिसी एड-ऑन बेनिफिट के रूप में छात्रवृत्ति (स्कॉलरशिप) प्रदान करती है
  • किसी भी परिवार का 18 से 59 वर्ष का मुखिया या परिवार का कोई अन्य कमाऊ सदस्य इस पॉलिसी के लिए योग्य होता है।
  • पॉलिसी के लिए पॉलिसी होल्डर को सालाना रु 200 का भुगतान बतौर प्रीमियम करना होता है।

आधिकारिक वेबसाइट: https://www.licindia.in/Products/Aam-Aadmi-Bima-Yojana

ऊपर बताई गई पॉलिसियों के बारे में जानने के बाद आपको एक बेहतर इंश्योरेंस ऐडवाइज़र बनने में मदद मिलेगी। आप अपने करियर पर ध्यान केंद्रित करना जारी रख सकते हैं और साथ ही, उन लोगों की सहायता कर सकते हैं, जिन्हें ऊपर बताई गई पॉलिसियों की ज़रूरत है।

Recent articles
follow us and stay updated
About Mintpro
Mintpro is the best insurance advisor app if you are looking to start, grow or manage your insurance business. With MintPro, you can become a trusted insurance advisor to your customers and provide great service as well. You can provide quotes from multiple insurers for multiple products, issue policy instantly without lengthy paperwork, follow-up with leads and much more.
Become a partner Become a partner